लखनऊ विश्वविद्यालय में अंतर्राष्ट्रीय प्रतिरक्षा विज्ञान दिवस के अवसर पर सेमिनार

लखनऊ : 29 अप्रैल (त्रिवेणी न्यूज़)

अंतर्राष्ट्रीय प्रतिरक्षा विज्ञान दिवस के अवसर पर आज 29 अप्रैल 2024 को इंडियन इम्यूनोलॉजी सोसायटी न्ई दिल्ली, एसोसिएशन ऑफ एकेडमिक पीपल ऑफ सोसाइटी, बायोकेमेस्ट्री विभाग लखनऊ विश्वविद्यालय के संयुक्त तत्वावधान में एक दिवसीय राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन किया गया।   सेमिनार  “समाज स्वास्थ्य और प्रतिरक्षा” पर केंद्रित था, जिसका केंद्रीय विषय “प्रतिरक्षा और बुढ़ापा” था। प्रतिष्ठित वक्ताओं ने बढ़ती प्रतिरक्षा प्रणाली से संबंधित विभिन्न पहलुओं पर प्रकाश डालते हुए अपनी अंतर्दृष्टि और शोध निष्कर्ष साझा किए।

लखनऊ विश्वविद्यालय में बायोकेमिस्ट्री विभाग के प्रमुख प्रो. सुधीर मेहरोत्रा ने कोविड काल, वैक्सीन को याद करते हुए प्रतिरक्षण को मजबूत करने की पर बात रखी I उनके बाद, आई आई टी आर लखनऊ के वरिष्ठ वैज्ञानिक प्रो. वी.पी शर्मा ने किचन में रखे जाने वाले सामान जैसे मेथी, हल्दी, मट्ठा, कलौजी आदि के प्रयोग की आवश्यकता पर जोर दिया I प्रतिरक्षण क्षमता बनी रहे इसके पर्याप्त नींद लेना, धूम्रपान से दूर रहना, स्वस्थ वजन पर ध्यान देना आदि पर ध्यानाकर्षित किया I KGMU, लखनऊ के ऑन्कोलॉजी विभाग के प्रोफेसर शैलेन्द्र यादव ने वायरल संक्रमण और प्रतिरक्षा पर इम्यूनोसेन्सेंस के प्रभाव पर चर्चा की। डॉ. राकेश सिंह ने सक्रिय स्वास्थ्य देखभाल उपायों के महत्व पर जोर देते हुए बुजुर्गों में प्रतिरक्षा प्रणाली की शिथिलता पर बहुमूल्य सुझाव दिए।


कार्यक्रम में एक मनोरम पोस्टर प्रस्तुति के साथ-साथ लखनऊ विश्वविद्यालय के बायोकैमिस्ट्री के छात्रों द्वारा प्रतिरक्षा पर किए गए सरल लेकिन जानकारीपूर्ण प्रयोगों को भी प्रदर्शित किया गया। लुआक्टा अध्यक्ष डॉ मनोज पांडे ने योग और तेज कदमों से चलने, खान पान संयम से प्रतिरक्षण क्षमता पर अपने विचार रखे I

कार्यक्रम का समापन आपस सोसाइटी की अध्यक्ष प्रो. अंशु केडिया के धन्यवाद ज्ञापन और सभी प्रतिभागियों को उनके बहुमूल्य योगदान के लिए आभार व्यक्त करने के साथ हुआ। इंडियन इम्यूनोलॉजी सोसायटी के संयोजक सदस्य प्रो. डी.के अवस्थी और इंडियन इम्यूनोलॉजी सोसायटी के आयोजक सचिव डॉ. राजेश गुप्ता ने सभी उपस्थित लोगों का स्वागत किया।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित उत्तर प्रदेश विधान परिषद के सदस्य पवन सिंह चौहान ने  कार्यक्रम की गरिमा बढ़ाई। इनके द्वारा कई व्यक्तियों को उनके उत्कृष्ट योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
प्रो.श्रद्धा सिन्हा को लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड , आलोक सक्सेना को एक सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में उनके समर्पण के लिए, प्रो.विभा अग्निहोत्री को उनकी अनुकरणीय शैक्षणिक उपलब्धियों के लिए विशेष पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम में लगभग 175 लोगों ने सहभागिता दी I

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *