किशोरी लाल शर्मा के व्यक्तिगत जनसंपर्क से अमेठी में कांग्रेस का पलड़ा भारी

अमेठी :12 मई (त्रिवेणी न्यूज़)

अमेठी से कांग्रेस  प्रत्याशी पंडित किशोरी लाल शर्मा

लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण में 20 मई को अमेठी में मतदान होगा। रायबरेली में भी 20 मई को ही मतदान है। यह दोनों चुनाव क्षेत्र कांग्रेस पार्टी के लिए प्रतिष्ठा के चुनाव हैं। रायबरेली से तो राहुल गांधी का चुनाव में जीतना निश्चित ही है लेकिन अमेठी में भी किशोरी लाल शर्मा ने अपनी मेहनत और जनसंपर्क से मुकाबला को बराबरी पर ला दिया है। अगले दो  तीन दिनों में कांग्रेस का ग्राफ और बढ़ेगा और भारतीय जनता पार्टी  पीछे हो रही है। इस संसदीय क्षेत्र के गौरीगंज और अमेठी विधानसभा क्षेत्र में पिछली बार समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी विधायक चुने गए थे। इस चुनाव में समाजवादी पार्टी से कांग्रेस पार्टी का समझौता है इसलिए समाजवादी पार्टी के समर्थकों का भी प्रयास है कि भारतीय जनता पार्टी को हराकर कांग्रेस प्रत्याशी को जिताया जाए।

भाजपा के कैंप में भी पूरी ताकत से चुनाव प्रचार चल रहा है लेकिन वहां चाटुकारों और लालची लोगों की भीड़ ज्यादा है जबकि कांग्रेस के कैंप में समर्पित कार्यकर्ताओं का उत्साह देखते बनता है। किशोरी लाल शर्मा राजीव गांधी के कार्यकाल से ही अमेठी संसदीय क्षेत्र से जुड़े हैं। पिछले 40 वर्षों में आधे समय तक केंद्र में कांग्रेस की सरकार रही है और बाकी समय अन्य दलों की सरकारी रही हैं ।इसमें से ज्यादातर समय भाजपा रही। ऐसे समय में भी किसी न किसी रूप में किशोरी लाल शर्मा ने अमेठी और रायबरेली के लोगों के लिए कुछ न कुछ उपकार अवश्य किया है। व्यक्तिगत रूप से भी उनके क्षेत्र के बहुत लोगों से संपर्क रहा है और दिल्ली जाने पर सबको आवश्यक सुविधा व सहायता प्रदान करते रहे हैं। उनकी इस सेवा का लाभ इस चुनाव में उन्हें मिल रहा है।

भले ही भाजपा प्रत्याशी स्मृति ईरानी केंद्र में मंत्री हैं और उनका फोकस ज्यादा है लेकिन जमीनी स्तर से वह लगभग कट चुकी है। पिछली बार राहुल गांधी के अमेठी से चुनाव हारने पर अमेठी के लोगों को अफसोस भी हुआ था। इस बार उनको अपनी गलती सुधारने का मौका मिला है।  किशोरी लाल शर्मा को लोकसभा चुनाव में विजई बनाकर अमेठी के लोग गांधी नेहरू परिवार के प्रति अपनी प्रतिबद्धता सिद्ध करना चाहते हैं।

राष्ट्रीय स्तर पर एनडीए और इंडिया गठबंधन के मुकाबले का रिजल्ट कुछ भी निकले लेकिन अमेठी और रायबरेली में कांग्रेस पार्टी की जीत निश्चित है। दलित पिछड़ा और अल्पसंख्यक तो कांग्रेस के साथ है ही । भाजपा का  परंपरागत ब्राह्मण वर्ग भी किशोरी लाल शर्मा के कारण कांग्रेस के  साथ आ गया है। कांग्रेस पार्टी के जो पुराने समर्थक और कार्यकर्ता पिछले 5 वर्षों से उदासीन और निष्क्रिय हो गए थे वह सभी अब मैदान में आ गए हैं। वह सभी घर-घर जाकर आम मतदाता को पिछले चुनाव में की गई गलती के बारे में बात कर गलती सुधार करने की सलाह दे रहे हैं। रायबरेली और अमेठी क्षेत्र में प्रियंका गांधी की मौजूदगी से पार्टी को अतिरिक्त लाभ मिल रहा है।

प्रदेश और देश में कांग्रेस की स्थिति कुछ भी हो लेकिन रायबरेली और अमेठी संसदीय क्षेत्र में राहुल गांधी और किशोरी लाल शर्मा की विजय निश्चित लग रही है। रायबरेली में कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता आर पी पांडे का कहना है कि इस बार इन दोनों चुनाव क्षेत्र में कांग्रेस प्रत्याशियों की जीत का मार्जिन अप्रत्याशित रूप से बहुत ज्यादा होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *